आँखों को तेरी आदत है / Aankhon Ko Teri Aadat Hai Lyrics

  Aankhon Ko Teri Aadat Hai Lyrics in English & Hindi By Armaan Malik & Neeti Mohan, Song Name – Sau Aasmaan





Aankhon Ko Teri Aadat Hai Lyrics
Song Sau Aasmaan (Aankhon Ko Teri Aadat Hai)
Singer Armaan Malik, Neeti Mohan
Music Amaal Mallik
Lyrics Kumaar
Label Zee Music Company



Aankhon Ko Teri Aadat Hai Lyrics in English



Aankhon ko… teri aadat hai,
Tu dikhe na toh inhe shiqayat hai



Aankhon ko… teri aadat hai,
Tu dikhe na toh inhe shiqayat hai

Bin chhuey chhu liye hain
Tune mujhko diye hain
Pyaar ke ye taraane janiya

Ye jo ab ho raha hai
Kuch ajab ho raha hai
Kya yehi pyaar ka hai ehsaas

Sau aasmaano ko
Aur do jahano ko
Chhod ke aayi tere paas

Sau aasmano ko
Aur do jahano ko
Chhod ke aayi tere paas

Jaane kya hone lagaa
Mujhko nahi hai khabar
Kyun neend se door ye
Jaane lagi hai nazar

Chhodo ye saari baatein
Ab mili hain jo raatein
Inhe jaane na dena janiya

Ye jo ab ho raha hai
Kuch ajab ho raha hai
Kya yehi pyaar ka hai ehsaas

Sau aasmano ko
Aur do jahano ko
Chhod ke aayi tere paas

Sau aasmano ko
Aur do jahano ko
Chhod ke aayi tere paas

Aankhon ko… teri aadat hai
Tu dikhe na toh
Inhe shikayat hai

Bin chhuey chhu liye hain
Tune mujhko diye hain
Pyaar ke ye taraane janiya…

Ye jo ab ho raha hai
Kuch ajab ho raha hai
Kya yehi pyaar ka hai ehsaas

Sau aasmano ko
Aur do jahano ko
Chhod ke aayi tere paas

Sau aasmano ko
Aur do jahano ko
Chhod ke aayi tere paas

Sau aasmano ko
Aur do jahano ko
Chhod ke aayi tere paas


Aankhon Ko Teri Aadat Hai Lyrics in Hindi



आँखों को तेरी आदत है
तू दिखे ना तो इन्हें शिकायत है
आँखों को तेरी आदत है
तू दिखे ना तो इन्हें शिकायत है

बिन छुए छु लिए हैं
तूने मूझको दिए हैं
प्यार के ये तराने जानिया

ये जो अब हो रहा है
कुछ अजब हो रहा है
क्या येही प्यार का है एहसास

सौ आसमानों को और दो जहानों को
छोड़ के आई तेरे पास

सौ आसमानों को और दो जहानों को
छोड़ के आई तेरे पास

जाने क्या होने लगा
मुझको है नहीं है ख़बर
क्यूँ नींद से दूर ये
जाने लगी है नज़र

छोडो ये सारी बातें
अब मिले जो रातें
इन्हें जाने ना देना जानिया

ये जो अब हो रहा है
कुछ अजब हो रहा है
क्या येही प्यार का है एहसास

सौ आसमानों को और दो जहानों को
छोड़ के आई तेरे पास

सौ आसमानों को और दो जहानों को
छोड़ के आई तेरे पास

आँखों को तेरी आदत है
तू दिखे ना तो
इन्हें शिकायत है

बिन छुए छु लिए हैं
तूने मुझको दिए हैं
प्यार के ये तराने जानिया

ये जो अब हो रहा है
कुछ अजब हो रहा है
क्या येही प्यार का है एहसास

सौ आसमानों को और दो जहानों को
छोड़ के आई तेरे पास

सौ आसमानों को और दो जहानों को
छोड़ के आई तेरे पास

सौ आसमानों को और दो जहानों को
छोड़ के आई तेरे पास