कतल मुबारक Katal Mubarak Lyrics In Hindi – A Kay

कतल मुबारक Katal Mubarak Lyrics In Hindi – A Kay

Katal Mubarak Lyrics In Hindi

राहे छड्ड अरमान मेरा
खौरे किहनु मोह गईयां पलकां
Jerry ओथे हर गया सी
नी जिथे दिस्सियाँ तेरियां झलकाँ

अज्ज वी अख मेरी ओहि आ
काहतों बदलेया तेरा चेहरा

तू हंस के जश्न मना अड़िये
नी तैनू क़तल मुबारक मेरा
तू हंस के जश्न मना अड़िये
नी तैनू क़तल मुबारक मेरा
हंस के जश्न मना अड़िये
नी तैनू क़तल मुबारक मेरा हो ..

मैनु चाह के वी नहीं मिल सकेया
तेरा दिल चंदरा आसमानी
हो तरसे ओहदे लई कमला
जेहड़ी चीज़ सदा सी बेगानी

मैनु चाह के वी नहीं मिल सकेया
तेरा दिल चंदरा आसमानी
हो तरसे ओहदे लई कमला
जेहड़ी चीज़ सदा सी बेगानी

चल मेरे मथे कबर लग्गू
कीहदे लग्गणा सोहना सेहरा

तू हंस के जश्न मना अड़िये
नी तैनू क़तल मुबारक मेरा
तू हंस के जश्न मना अड़िये
नी तैनू क़तल मुबारक मेरा
हंस के जश्न मना अड़िये
नी तैनू क़तल मुबारक मेरा हो ..

मैनु रूह थांही ओह मोह गयी सी
ओह मोह गयी मेरेया सांहां
जे भुल भुलेखे तुर लैंनां
तां वी दिस्सण ओह्दीयाँ राहां

मैनु रूह थांही ओह मोह गयी सी
ओह मोह गयी मेरेया सांहां
जे भुल भुलेखे तुर लैंनां
तां वी दिस्सण ओह्दीयाँ राहां

तेरियां भैणां दा हक़दार ना मैं
किथों कर गयी एड्डा जेहरा

तू हंस के जश्न मना अड़िये
नी तैनू क़तल मुबारक मेरा
तू हंस के जश्न मना अड़िये
नी तैनू क़तल मुबारक मेरा
हंस के जश्न मना अड़िये
नी तैनू क़तल मुबारक मेरा हो ..