Humko Maloom Hai Ishq Masoom Hai Lyrics In Hindi

Humko Maloom Hai Ishq Masoom Hai Lyrics In Hindi & English

Humko Maloom Hai Ishq Masoom Hai Lyrics

Movie: Jaan-E-Mann: Let’s Fall in Love… Again
Singers: Sadhana Sargam, Sonu Nigam
Song Lyricists: Gulzar (Sampooran Singh Kalra)
Music Composer: Anu Malik

Humko Maloom Hai Ishq Masoom Hai Lyrics

Mohabaton Mein Jeene
Wale Kushnaseeb Hai
Mohabaton Mein Marne
Wale Bhi Ajeeb Hai
Azeem Hai Humari
Dastaan Jane Maan
Fhaaslo Pe Rehten
Hai Lekin Kareeb Hai

Humkoo Maalum Hai
Ishq Maasoom Hai
Dil Se Ho Jati Hai Galtiyannnn.
Saabrr Se Ishq Mehruum Hai

Hua Jo Zamane Ka Dastur Hai
Mom Maani Nahi
Dad Naaraaz Tha
Meri Barbaadiyon Kaa
Woh Aaghaaz Tha
Ishq Ka Yeh Bhi Ek Andaz Tha
Woh Na Raazi Hue
Hum Bhi Baggie Hue
Beqaar Hum Farar Ho Gayeeee…

Ummm
Humkoo Maalum Hai
Ishq Maasoom Hai
Dil Se Ho Jati Hai Galtiyannnn.
Saabrr Se Ishq Mehruum Hai

Mein Pareshaan Hoon
Ek Majboori Per
Hoga Gum Jane Kar
Saath Hoon Mein Magar
Mujhko Rehna Padega
Zara Duri Per
Sirf Do Hi Mehene Hai
Sah Lo Agar
Mera Future Hai Teri Kasam
Mera Future Hai Ismein Piya

Humkoo Maalum Hai
Ishq Maasoom Hai
Dil Se Ho Jati Hai Galtiyannnn.
Saabrr Se Ishq Mehrumm Hai

Waqt Se Hara
Lauta Jo Mein
Laut Kar Apne Ghar
Ja Chuki Ki Thi Piya

Phone Karta Raha
Phone Bhi Na Liya
Mene Khat Bhi Likhe
Saal Bhar Khat Likhe
Meri Aawaz Poohuchi Nahi
Kho Gai Meri Piya Kahin
Mujhko Ummed
Thi Ek Din To Kabhi
Woh Bhi Aawaaz Degi Mujhe
Ummmmmmm Ummmm Ummmmm

Humkoo Maalum Hai
Ishq Maasoom Hai
Dil Se Ho Jati Hai Galtiyannnn.
Saabrr Se Ishq Mehrumm Hai.

Humko Maloom Hai Ishq Masoom Hai Lyrics In Hindi

मोहबतों में जीने
वाले खुशनसीब है
मोहबतों में मरने
वाले भी अजीब है
अज़ीम है हमारी
दास्तान जाने मान
फास्लो पे रहते
है लेकिन करीब है

हमको मालुम है
इश्क़ मासूम है
दिल से हो जाती है गलतियांणं.
साबरर से इश्क़ महरूम है

हुआ जो ज़माने का दस्तूर है
माँ मानी नहीं
डैड नाराज़ था
मेरी बर्बादियों का
वह आघाज़ था
इश्क़ का यह भी एक अंदाज़ था
वह न राज़ी हुए
हम भी बग्गिए हुए
बेकार हम फरार हो गयी…

उम्म्म
हमको मालुम है
इश्क़ मासूम है
दिल से हो जाती है गलतियांणं.
साबरर से इश्क़ महरूम है

में परेशान हूँ
एक मजबूरी पैर
होगा गम जाने कर
साथ हूँ में मगर
मुझको रहना पड़ेगा
ज़रा दुरी पर
सिर्फ दो ही मेहेने है
सह लो अगर
मेरा फ्यूचर है तेरी कसम
मेरा फ्यूचर है इसमें पिया

हमको मालुम है
इश्क़ मासूम है
दिल से हो जाती है गलतियांणं.
साबरर से इश्क़ मेहरूमम है

वक़्त से हरा
लौटा जो में
लौट कर अपने घर
जा चुकी की थी पिया

फ़ोन करता रहा
फ़ोन भी न लिया
मैंने खत भी लिखे
साल भर खत लिखे
मेरी आवाज़ पुहुची नहीं
खो गई मेरी पिया कहीं
मुझको उम्मीद
थी एक दिन तो कभी
वह भी आवाज़ देगी मुझे
उम्मम्मम्मम उम्म्म्म उम्मम्मम

हमको मालुम है
इश्क़ मासूम है
दिल से हो जाती है गलतियांणं.
साबरर से इश्क़ मेहरूमम है.