Kachi Thi Aas Ki Dori Lyrics

Kachi Thi Aas Ki Dori Lyrics

Kachi Thi Aas Ki Dori Lyrics In Hindi & English – Sahi Ali Bagga ने गाया गया है Sahi Ali Bagga ने “Kachi Thi Aas Ki Dori Lyrics” के Lyrics लिखे हैं Sahi Ali Bagga ने इस Song का Music दिया गया है.

Song Name : Koi Dard Na Janey Mera
Singer Name : Sahir Ali Bagga
Music : Sahi Ali Bagga
Lyrics : Sahil Ali Bagga
Label : Sahil ALi Bagga.

Kachi Thi Aas Ki Dori Lyrics In Hindi


कुछ हारे नाल नसीब वी सी
कुछ दिल दे रिश्ते तोड़ दित्ता
कुछ अनज्वी नामा हो अंखिया सी
कुछ गल च गमा दे तोक वी सी

किस्मत ने जाने ऐ दिल
ये खेल कैसे खेले
मन अन्दर अन्दर रोए
गाम सहता रहे अकेले

किस्मत ने जाने ऐ दिल
ये खेल कैसे खेले
मन अन्दर अन्दर रोए
गाम सहता रहे अकेले
किसे अपना हाल सुनावा
किसे अपने जख्म दिखावा
जो बीत गया है मुझमे
में जानू या दिल जाणे

हाय रब्बा
हाय रब्बा
कोई दर्द ना जाने मेरा दर्द ना जाने

हाय रब्बा
हाय रब्बा
कोई दर्द ना जाने मेरा दर्द ना जाने

हाय रब्बा

कच्ची थी आस की डोरी
एक पल में टूट गई है
ये अपनों की खुदगर्जी
खुशिया मेरी लुट गई है
इस राह-ए-वफ़ा में पाई
हर मोड़ फ़क़त रुसवाई
जो मंजिल के चाहत थी
रस्ते में वो छुट गई है
सुना मन का आंगन है
ये कैसा खालीपन है
मेरे अन्दर है तन्हाई
मेरे बाहीर है वीरानी

हाय रब्बा
हाय रब्बा
कोई दर्द ना जाने मेरा दर्द ना जाने

हाय रब्बा
हाय रब्बा
कोई दर्द ना जाने मेरा दर्द ना जाने

हाय रब्बा

कोई पूछे मेरे दिल से
कैसे ये ज़हर पिया है
मरना किसको कहते है
जीते जी ये जान लिया है
बेदर्द ज़माने से में
कोई शिकवा करू तो कैसे
हमदर्द जिसे समझा था
उसने ही तो दर्द दिया है
ये सोच के दर्द साहू में
इस डर से कुछ ना कहू में
ये दिल के रिश्ते पल में हो जाए ना बेगाने

कतरा कतरा आँखों से
क्यूँ बहती है मज़बूरी
जो दुआए मांगी है वो भी जाने कब होंगी पूरी
ये आज मोहब्बत हमको किस मोड़ पे है ले आई
है साथ मगर ना जाने फिर भी है जैसे एक दुरी
क्या सोचा था क्या पाया
ये कैसा रोग लगाया
अब जाऊ तो कहा जाऊ
रूठी सी तकदीर मनाने

हाय रब्बा
हाय रब्बा
कोई दर्द ना जाने मेरा दर्द ना जाने

हाय रब्बा
हाय रब्बा
कोई दर्द ना जाने मेरा दर्द ना जाने

हाय रब्बा

Kachi Thi Aas Ki Dori Lyrics In English

Kuch Haare Naal Naseeb Vi Si
Kuch Dil De Rishte Tood Ditta
Kuch Na Va Akhiyaan Si,
Kuch Kal ‘Ch Ghuma De Tok

Kismat Ne Jaane Ae Dil,
Ye Khel Kaise Khele,
Mann Ander Ander Rooye,
Ghum Sehta Rahe Akele…

Kismat Ne Jaane Ae Dil,
Ye Khel Kaise Khele,
Mann Ander Ander Rooye,
Ghum Sehta Rahe Akele…

Kisse Apna Haal Sunawa,
Kisse Apne Zakhm Dikhavaan,
Jo Beet Gaya Hai Mujhpe,
Main Jaanu Ya Dil Jaane…

Haaye Rabba…Haaye Rabba,
Koi Dard Na Jaane Mera Dard Na Jaane,
Haaye Rabba…Haaye Rabba,
Koi Dard Na Jaane Mera Dard Na Jaane,
Haaye Rabba

Kacchi Thi Aas Ki Doori,
Ek Pal Mein Toot Gayi Hai,
Ye Apno Ki Khudgarzi,
Khushiyaan Meri Loot Gayi Hai…

iss Raah-E-Wafa Mein Paayi,
Har Modd Fakat Ruswayi,
Jo Manzil Ki Chahat Thi,
Rashte Mein Wo Chhut Gayi Hai…

Soona Mann Ka Aangan Hai,
Ye Kaisa Khali Pan Hai,
Mere Ander Hai Tanhaai,
Mere Bahar Hai Viraane

Haaye Rabba…Haaye Rabba,
Koi Dard Na Jaane Mera Dard Na Jaane,
Haaye Rabba…Haaye Rabba,
Koi Dard Na Jaane Mera Dard Na Jaane,
Haaye Rabba

Koi Puche Mere Dil Se,
Kaise Ye Zehar Piya Hai,
Marna Kisko Kaehte Hai,
Jitte Jee Ye Jaan Liya Hai…

Bedard Zamaane Se Main,
Koi Shikwa Karoon Kaise,
Humdard Jisse Samjha Tha,
Usne Hi To Dard Diya Hai…

Ye Soch Ke Dard Shoon Main,
Iss Dar Se Kuch Na Kahoon Main,
Ye Dil Ke Rishtey Pal Mein Ho Jaaye Na Begaane…

Katra Katra Aakhon Se,
Kyun Behti Hai Majboori,
Jo Duayein Maangi Hai,
Wo Bhi Jaane Kab Hoomgi Poori

Ye Aaaj Mohabbat Humko,
Kiss Modd Pe Hai Le Aayi,
Hai Saath Magar Naa Jaane,
Phir Bhi Jaise Ek Doori…

Kya Socha Tha Kya Paaya,
Ye Kaisa Rog Lagaaya,
Ab Jaaun To Kaha Jaaun,
Roothi Se Takdeer Manaane…

Haaye Rabba…Haaye Rabba,
Koi Dard Na Jaane Mera Dard Na Jaane,
Haaye Rabba…Haaye Rabba,
Koi Dard Na Jaane Mera Dard Na Jaane,
Haaye Rabba