क्या मुझे प्यार हैं / Kya Mujhe Pyar Lyrics In Hindi

क्या मुझे प्यार हैं / Kya Mujhe Pyar Lyrics In Hindi

क्या मुझे प्यार हैं / Kya Mujhe Pyar Lyrics In Hindi (English)  – K.K. ने गाया गया है Nilesh Mishra ने “Kya Mujhe Pyar” के Lyrics लिखे हैं Pritam Chakraborty ने इस Song का Music दिया गया है.

Song – Kya Mujhe Pyar
Film – Woh Lamhe
Artist – Shiny Ahuja, Kangna Ranaut
Singer – K.K.
Music Director – Pritam Chakraborty
Lyricist – Nilesh Mishra
Music On – T-Series

Kya Mujhe Pyar Lyrics


Kyun Aaj Kal, Nind Kam Khwab Jyada Hai
Lagta Khuda Ka, Koi Nek Irada Hai
Kal Tha Faqir Aaj Dil Shehzada Hai
Lagta Khuda Ka Koi Nek Irada Hai

Kya Mujhe Pyar Hai …
Kaisa Khumar Hai …
Kya Mujhe Pyar Hai …
Kaisa Khumar Hai …

Oo O Oo.. Oo O Oo..

Paththar Ke In Raston Pe
Phoolon Ki Ek Chadar Hai
Jabse Mile Ho Humko
Badla Har Ek Manzar Hai

Dekho Jahan Main Nile Nile Aasmaan Tale
Rang Naye Naye Hain Jaise Ghulte Hue
Soye Se Khaab Mere, Jaage Tere Waste
Tere Khayalon Se Hain, Bheege Mere Raaste

Kya Mujhe Pyar Hai …
Kaisa Khumar Hai …
Kya Mujhe Pyar Hai …
Kaisa Khumar Hai …

Oo O Oo.. Oo O Oo..

Tum Kyun Chale Aate Ho
Har Roj In Khwabon Main
Chupke Se Aa Bhi Jao Main
Ek Din Meri Baahon Main

Tere Hi Sapne Andheron Main Ujalo Main
Koi Nasha Hai, Teri Aankhon Ke Pyalon Main
Tu Mere Khwabon Main Jawaabon Main Saawalon Main
Har Din Chura Tumhe Main Lata Hoon Khyalon Main

Kya Mujhe Pyar Lyrics In Hindi

क्यों आजकल नींद
कम ख्वाब ज़्यादा हैं
लगता खुदा का कोई
नेक इरादा हैं
कल था फ़क़ीर आज
दिल शेह्ज़ादा हैं
लगता खुदा का कोई
नेक इरादा हैं
क्या मुझे प्यार हैं आह
कैसा खुमार हैं आह
क्या मुझे प्यार हैं आह
कैसा खुमार हैं आह
ओ ओ ओ ओ ओ

मेरी दुनिया
पठार के इन रास्तों पे
फूलों की एक चादर हैं
जबसे मिलें हो हमको
बदला हर एक मंज़र हैं
देखो जहां में
नीले नीले आसमान तले
रंग नए नए हैं
जैसे घुलते हुए
सोये से ख्वाब मेरे
जागे तेरे वास्ते
तेरे ख्यालों से हैं
भीगे मेरे रास्ते
क्या मुझे प्यार हैं आह
कैसा खुमार हैं आह
क्या मुझे प्यार हैं आह
कैसा खुमार हैं आह
ओ ओ ओ ओ ओ

तुम क्यों चले आते हो
हर रोज़ इन ख्वाबों में
चुपके से आ भी जाओ
एक दिन मेरी बाहों में
तेरे ही सपने अंधेरों
में उजालों में
कोई नशा हैं तेरी
आँखों के प्यालों में
तू मेरे ख़्वाबों में
जवाबों में सवालों में
हर दिन चुरा तुम्हें
में लाता हूँ ख्यालों में
क्या मुझे प्यार हैं आह
कैसा खुमार हैं आह
क्या मुझे प्यार हैं आह
कैसा खुमार हैं आह.