Toh Phir Kyun Aankhon Mein Nami Lyrics |Aaj Bhi – Vishal Mishra

Toh Phir Kyun Aankhon Mein Nami Lyrics |Aaj Bhi – Vishal Mishra

Toh Phir Kyun Aankhon Mein Nami Lyrics |Aaj Bhi Lyrics in Hindi (English)  – Vishal Mishra ने गाया गया है Vishal M, Kaushal K & Yash A ने “Toh Phir Kyun Aankhon Mein Nami” के Lyrics लिखे हैं Vishal Mishra ने इस Song का Music दिया गया है.

Song : Aaj Bhi
Singer : Vishal Mishra
Music : Vishal Mishra
Lyrics : Vishal M, Kaushal K & Yash A

Toh Phir Kyun Aankhon Mein Nami Lyrics In English

Naa Dard Hai
Na Gham Tere
Na Ishq Hai Na Teri
Woh Chaahatein

Haan Khush Hoon Main.. Tere Bina
Na Mujhmein Bachi Kahin.. Teri Aadatein

Hai Phir Kyun Aankhon Mein Nami
Kyun Main Rota Hoon Aaj Bhi
Kya Khalti Teri Hai Kami
Kyun Main Rota Hoon Aaj Bhi

Hai Phir Kyun Aankhon Mein Nami
Kyun Main Rota Hoon Aaj Bhi
Kya Khalti Teri Hai Kami..

Tumne Kaha Tha Saath Jiyenge
Honge Juda Na Hum Kabhi
Haath Yeh Thaame Chalti Rahungi
Waqt Ye Le Jaaye Kahin

Tumne Kaha Tha Saath Jiyenge
Honge Juda Na Hum Kabhi
Haath Yeh Thaame Chalti Rahungi

Jhoothi Hai Ye Saari Kasme
Saare Wade Pyar Ke
Dafan Main Unko Hoon Kar Aaya
Jashn Mein Apni Haar Ke

Hai Phir Kyun Aankhon Mein Nami
Kyun Main Rota Hoon Aaj Bhi
Kya Khalti Teri Hai Kami
Kyun Main Rota Hoon Aaj Bhi

Hai Phir Kyun Aankhon Mein Nami
Kyun Main Rota Hoon Aaj Bhi
Haan Khalti Teri Hai Kami
Jo Main Rota Hoon Aaj Bhi


Toh Phir Kyun Aankhon Mein Nami Lyrics In Hindi

ना दर्द है
ना ग़म तेरे
ना इश्क़ है ना तेरी
वो चाहतें

हाँ खुश हूँ मैं.. तेरे बिना
ना मुझमें बची कहीं.. तेरी आदतें

है फिर क्यूँ आँखों में नमी
क्यूँ मैं रोता हूँ आज भी
क्या खलती तेरी है कमी
क्यूँ मैं रोता हूँ आज भी

है फिर क्यूँ आँखों में नमी
क्यूँ मैं रोता हूँ आज भी
क्या खलती तेरी है कमी..

तुमने कहा था साथ जियेंगे
होंगे जुदा ना हम कभी
हाथ यह थामे चलती रहूँगी
वक़्त ये ले जाए कहीं

तुमने कहा था साथ जियेंगे
होंगे जुदा ना हम कभी
हाथ यह थामे चलती रहूँगी

झूठी है ये सारी कसमें
सारे वादे प्यार के
दफ़न मैं उनको हूँ कर आया
जश्न में अपनी हार के

है फिर क्यूँ आँखों में नामी
क्यूँ मैं रोता हूँ आज भी
क्या खलती तेरी है कमी
क्यूँ मैं रोता हूँ आज भी

है फिर क्यूँ आँखों में नामी
क्यूँ मैं रोता हूँ आज भी
हाँ खलती तेरी है कमी
जो मैं रोता हूँ आज भी