Daghabaaz Ho Tum Sitam Dhane Wale Lyrics

Daghabaaz Ho Tum Sitam Dhane Wale Lyrics In Hindi And English

Daghabaaz Ho Tum Sitam Dhane Wale Lyrics


Kaali Kaali Zulfon K Phande Na Dalo
Hamain Zinda Rehne Do Ae Husn Walo

Ap Is Tarah to Hosh Uraya Na Kijie
Yun Ban Sanwar K Samney Aya Na Kijie

Kaali Kaali Zulfon K Phande Na Dalo
Hamain Zinda Rehne Do Ae Husn Walo

Na Chero Hamain Ham Sataye Huwe Hain
Bohat Zakhm Seene Pe Khaye Huwe Hain
Sitam Gar Ho tum Khoob Pehchante Hain
Tumhari Adaon Ko Ham Jante Hain
Daghabaaz Ho Tum Sitam Dhane Wale
Fareeb e Muhabbat main Uljane Wale
Yeh Rangiin Kahani Tumhi ko Mubarak
Tumari Jawani Tumhi Ko Mubarak
Hamari taraf se nigahain hata lo
Hamain Zinda Rehne Do Ae Husn Walo!

Kaali Kaali Zulfon K Phande Na Dalo
Hamain Zinda Rehne Do Ae Husn Walo

Mast aankho Ki baat chalti hai
Mehkashi karwate badallti hai
Ban sanwar kar wo jab nikalte hain
Dil kasi sath sath chalti hai
Haar jate hain jeetne wale
Wo nazar aisi chaal chalti hai
Jab hatate hain rukh se zulfon ko
Chaand hasta hai raat dhalti hai
Jab hatate hain rukh se zulfon ko
Chaand hasta hai raat dhalti hai
Bada kash jaam todh dete hain
Jab nazar se sharaab dhalti hai
Kya qayamat hai un ki angdhai
Kich k goya kamaan chalti hai
Yun haseeno ki zulf lehraye
Jese nagan koi machalti hai

Kaali Kaali Zulfon K Phande Na Dalo
Hamain Zinda Rehne Do Ae Husn Walo

Kaali Kaali Zulfon K Phande Na Dalo
Hamain Zinda Rehne Do Ae Husn Walo

Sambhalo zara apna anchal gulabi
Dikhao na has-has k aankhe sharabi
Sulook in ka dunya main achha nahi hai
Haseeno pe ham ko bharosa nahi hai
Uthate hain nazrain to girti hai bijli
Ada jo bhi nikli qayamat hi nikli
Jahan tum ne chehere se aanchal hataya
Wahin ahl-e dil ko tamasha banaya
Khuda k liye ham pe dore na dalo
Hamain zinda rehne do ae husn walo!

Kaali Kaali Zulfon K Phande Na Dalo
Hamain Zinda Rehne Do Ae Husn Walo

Kaali Kaali Zulfon K Phande Na Dalo
Hamain Zinda Rehne Do Ae Husn Walo

Sada waar karte ho tegh-e jawa ka
Bahate ho khoon tum ahel-e wafa ka
Yeh nagan si zulfain yeh zehrili najarein
Wo pani na mange yeh jis ko bhi das le
Wo lut jaye jo tum se dil ko laga le
Khir-e hasraton ka janaaza utha le
Hain maloom ham ko tumhari haqeeqat
Muhabbat k parde mai karte ho nafrat
Hain maloom ham ko tumhari haqeeqat
Muhabbat k parde mai karte ho nafrat
Kahin aur ja k aagane uchalo

Kaali Kaali Zulfon K Phande Na Dalo
Hamain Zinda Rehne Do Ae Husn Walo

Kaali Kaali Zulfon K Phande Na Dalo
Hamain Zinda Rehne Do Ae Husn Walo

ewan mera dil hai, ewane ko kya kahiye
Jinjir me julfo ko fas jane ko kya kahiye
Kaali Kaali Zulfon K Phande Na Dalo
Hamain Zinda Rehne Do Ae Husn Walo

Kaali Kaali Zulfon K Phande Na Dalo
Hamain Zinda Rehne Do Ae Husn Walo

Ye jhuti numayis, ye jhuti banawot
Farebi najar hai, najar ki lagawot
Ye sundal se kesu, ye aarji gulabi
Janame me layega ekdin kharabi
Fana hamko karde na ye mukurana
aada ka fidana, chalan jalimana
dikhawo na ye, esawano na hamko
Sikhawo na ulfalt pe andaj hamko
ki aaur pe par julf ka jaal

Kali Kali Zulfon Ke Phande Lyrics in Hindi

काली काली जुल्फों के फंदे ना डालो

हमें जिंदा रहने दो ऐ हुस्न वालो



आप इस तरह तो होश उठाया ना की जिए

यु बन सवर के सामने आया ना की जिए



काली काली जुल्फों के फंदे ना डालो

हमें जिंदा रहने दो ऐ हुस्न वालो



ना छेड़ो हमें हम सताए हुए है

बहुत जख्म सीने पे खाए हुए है

सितमगर हो तुम खूब पहचानते है

तुम्हारी अदाओ को हम जानते है

दगा बाज़ हो तुम सितम ढाने वाले

फरेबे मोहब्बत में उलझाने वाले

ये रंगी कहानी तुम्ही को मुबारक

तुम्हारी जवानी तुम्ही को मुबारक

हमारी तरफ से निगाहें हटा लो

हमें जिंदा रहने दो ऐ हुस्न वालो



काली काली जुल्फों के फंदे ना डालो

हमें जिंदा रहने दो ऐ हुस्न वालो



काली काली जुल्फों के फंदे ना डालो

हमें जिंदा रहने दो ऐ हुस्न वालो



मस्त आँखों की बात चलती है

मैयकशी करवटे बदलती है

बन सवर कर वो जब निकलते है

दिलकशी साथ साथ चलती है

हार जाते है जितने वाले


वो नज़र ऐसी चाल चलती है

जब हटाते है रुख से जुल्फों को

चाँद हस्ता है रात ढलती है

वादाकश जाम तोड़ देते है

जब नज़र से शराब ढलती है

क्या क़यामत है उनकी अंगड़ाई

खीच के गोया कमान चलती है

यूँ हसीनों की ज़ुल्फ़ लहराए

जैसे नगन कई मचलती है



काली काली जुल्फों के फंदे ना डालो

हमें जिंदा रहने दो ऐ हुस्न वालो



काली काली जुल्फों के फंदे ना डालो

हमें जिंदा रहने दो ऐ हुस्न वालो



सम्भालो ज़रा अपना आँचल गुलाबी

दिखाओ ना हस हस के आंखे शराबी

सुलूक इनका दुनिया में अच्छा नहीं है

हसीनो पे हमको भरोसा नहीं है

उठते है नज़रे तो गिरती है बिजली

अदा जो भी निकली क़यामत ही निकली

जहा तुमने चेहरे से आँचल हटाया

वही एहले दिल को तमाशा बनाया

खुदा के लिए हम पे डोरे ना डालो

हमें जिंदा रहने दो ऐ हुस्न वालो



काली काली जुल्फों के फंदे ना डालो

हमें जिंदा रहने दो ऐ हुस्न वालो



काली काली जुल्फों के फंदे ना डालो

हमें जिंदा रहने दो ऐ हुस्न वालो



सदा वार करते हो तेरे जाफा का

बहाते हो तुम खून एहले वफ़ा का

ये नागन सी जुल्फे ये ज़हरीली नज़रे

वो पानी ना मांगे ये जिसको भी डस ले

वो लुट जाए जो तुमसे दिल को लगाए


फिरे हसरतों का जनाजा उठाए

है मालूम हमको तुम्हारी हकीकत

मुहब्बत के परदे में करते हो नफरत

कही और जाके अदाए उझालो

हमें जिंदा रहने दो ऐ हुस्न वालो



काली काली जुल्फों के फंदे ना डालो

हमें जिंदा रहने दो ऐ हुस्न वालो



दीवाना मेरा दिल है दीवाने को क्या कहिए

ज़ंजीर में जुल्फों की फस जाने को क्या कहिए



काली काली जुल्फों के फंदे ना डालो

हमें जिंदा रहने दो ऐ हुस्न वालो



ये झूटी नुमाइश ये झूटी बनावट

फरेबे नज़र है नज़र की लगावट

ये सुन्दल से केसू ये अरीश गुलाबी

ज़माने में लायेंगे इक दिन खराबी

फ़ना हमको करदे ना ये मुस्कुराना

अदा काफिराना चालान जालिमाना

दिखाओ ना ये इशवाओ नाज़ हमको

सिखाओ ना उल्फत के अंदाज हमको

किसी और पर ज़ुल्फ़ का जाल डालो

हमें जिंदा रहने दो ऐ हुस्न वालो



काली काली जुल्फों के फंदे ना डालो

हमें जिंदा रहने दो ऐ हुस्न वालो



काली काली जुल्फों के फंदे ना डालो

हमें जिंदा रहने दो ऐ हुस्न वालो