किसी नज़र को तेरा Kisi Nazar Ko Tera

Kisi Nazar Ko Tera Lyrics in Hindi And English

Song Name : Kisi Nazar Ko Tera
Album / Movie : Aitbaar 1985
Star Cast : Dimple Kapadia, Raj Babbar, Suresh Oberoi
Singer : Asha Bhosle, Bhupinder Singh
Music Director : Bappi Lahiri
Lyrics by : Hasan Kamal
Music Label : T-Series

Kisi Nazar Ko Tera Lyrics in Hindi

किसी नज़र को तेरा
इंतज़ार आज भी हैं
किसी नज़र को तेरा
इंतज़ार आज भी हैं
कहा हो तुम के
ये दिल बेकरार आज भी हैं
किसी नज़र को तेरा
इंतज़ार आज भी हैं

वो वादियाँ वो फिजायें के
हम मिले थे जहां
वो वादियाँ वो फिजायें के
हम मिले थे जहां
मेरी वफ़ा का वही
पर मजार आज भी हैं
किसी नज़र को तेरा
इंतज़ार आज भी हैं

न जाने देख के कयोऊं को
ये हुआ एहसास
न जाने देख के कयोऊं को
ये हुआ एहसास
के मेरे दिल पे उन्हें
इख़्तियार आज भी हैं
किसी नज़र को तेरा
इंतज़ार आज भी हैं

वो प्यार जिस के लिए
हमने छोड़ दी दुनिया
वो प्यार जिस के लिए
हमने छोड़ दी दुनिया
वफ़ा की राह में घायल
वो प्यार आज भी हैं
वो प्यार जिस के लिए
हमने छोड़ दी दुनिया

यकीं नहीं हैं मगर
आज भी ये लगता हैं
यकीं नहीं हैं मगर
आज भी ये लगता हैं
मेरी तलाश में शायद
बहार आज भी हैं
किसी नज़र को तेरा
इंतज़ार आज भी हैं

न पूँछ कितने मोहब्बत की
ज़ख्म खाए हैं
न पूँछ कितने मोहब्बत की
ज़ख्म खाए हैं
के जिनको सोच के दिन
सो गवार आज भी हैं
वह प्यार जिस के लिए
हमने छोड़ दी दुनिया
वफ़ा के राहमे गायल
वो प्यार आज भी हैं

किसी नज़र को तेरा
इंतज़ार आज भी हैं
कहा हो तुम के ये
दिल बेकरार आज भी हैं
किसी नज़र को तेरा
इंतज़ार आज भी हैं

ज़िन्दगी क्या कोई निस्सार करे
किस्से दुनिया में कोई प्यार करे
अपना साया भी अपना दुश्मन हैं
कौन अब किसका एतबार करे
ऐतबार करे.

Kisi Nazar Ko Tera Lyrics in English

Kisi nazar ko teraa
Intazaar aaj bhi hain
Kisi nazar ko teraa
Intazaar aaj bhi hain
Kahaa ho tum ke
Ye dil bekaraar aaj bhi hain
Kisi nazar ko teraa
Intazaar aaj bhi hain

Wo waadiyaa wo fijaayen ke
Hum mile the jahaan
Wo waadiyaa wo fijaayen ke
Hum mile the jahaan
Meri wafaa kaa wahi
Par majaar aaj bhi hain
Kisi nazar ko teraa
Intazaar aaj bhi hain

Na jaane dekh ke kyooun ko
Ye huaa ehsaas
Na jaane dekh ke kyooun ko
Ye huaa ehsaas
Ke mere dil pe unhe
Ikhtiyaar aaj bhi hain
Kisi nazar ko teraa
Intazaar aaj bhi hain

Wo pyaar jis ke liye
Humane chhod di duniyaan
Wo pyaar jis ke liye
Humane chhod di duniyaan
Wafaa ki raah mein ghaayal
Wo pyaar aaj bhi hain
Wo pyaar jis ke liye
Humane chhod di duniyaan

Yakin nahin hain magar
Aaj bhi ye lagataa hain
Yakin nahin hain magar
Aaj bhi ye lagataa hain
Meri talaash mein shaayad
Bahaar aaj bhi hain
Kisi nazar ko teraa
Intazaar aaj bhi hain

Na poonch kitne mohabbat ki
Zakhm kaaye hain
Na poonch kitne mohabbat ki
Zakhm kaaye hain
Ke jinko soch ke din
So gavaar aaj bhi hain
Woh pyaar jis ke liye
Humne chhod dhi dhuniya
Wafa ke raahame gaayal
Wo pyaar aaj bhi hain

Kisi nazar ko tera
Intezaar aaj bhi hain
Kaha ho tum ke ye
Dil beyqaraar aaj bhi hain
Kisi nazar ko tera
Intezaar aaj bhi hain

Zindagi kya koi nissar kare
Kisse dhuniya mein koi pyaar kare
Apna saaya bhi apna dhushman hain
Kaun ab kiska aitbaar kare
Aitbaar kare