Lyrics In Hindi Fonts

barish mein tum song lyrics

Barish Mein Tum Lyrics in Hindi & english – Neha, Rohanpreet

Barish Mein Tum Lyrics


तुम्हें बोलना पसंद है
मुझे बोलते हुए तुम
तुम्हें हँसना पसंद है
मुझे हँसते हुए तुम

बस इतना ही फरक है
तेरी मेरी पसंद में
तुम्हें ये सब कुछ पसंद है
और मुझे पसंद हो तुम

तुमको बारिश पसंद है
मुझको बारिश में तुम
तुमको बारिश पसंद है
मुझको बारिश में तुम

हम्म हर बादल से पूछ लेना
हमें चाहतें हैं तुम्हारी
है खबर आसमां को भी
हमें आदतें हैं तुम्हारी

हम्म हर बादल से पूछ लेना
हमें चाहतें हैं तुम्हारी
है खबर आसमां को भी
हमें आदतें हैं तुम्हारी

ये तो जाने खुदा भी
तू ही एक बस ना माने
तुम हो हर एक दुआ में
हर गुज़ारिश में तुम

तुमको बारिश पसंद है
मुझको बारिश में तुम
तुमको बारिश पसंद है
मुझको बारिश में तुम

हो हर दिन मिलने हमसे
सावन का बादल बन कर आना
हम्म हम हैं दीवाने तेरे
तू भी पागल बन कर आना

ओ तुम्हें भीगना अच्छा लगता है
मुझे भीगति हुई तुम
तो फिर बारिश के हर मौसम में
मेरे साथ ही रहना तुम

के देख मोहब्बत मेरी
खुदा भी वो हैरान है
हो गयी जो आज मुक़म्मल
थे ख्वाहिश में तुम

तुमको बारिश पसंद है
मुझको बारिश में तुम
तुमको बारिश पसंद है
मुझको बारिश में तुम

Barish Mein Tum Lyrics in English


Tumhe bolna pasand hai
Mujhe bolte hue tum
Tumhe hansna pasand hai
Mujhe hanste hue tum

Bus itna hi farak hai
Teri meri pasand mein
Tumhe ye sab kuchh pasand hai
Aur mujhe pasand ho tum

Tumko baarish pasand hai
Mujhko baarish mein tum
Tumko baarish pasand hai
Mujhko baarish mein tum

Hmm har badal se puchh lena
Hame chahatein hai tumhaari
Hai khabar aasmaan ko bhi
Hame aadtein hai tumhaari

Hmm har badal se puchh lena
Hame chahatein hai tumhaari
Hai khabar aasmaan ko bhi
Hame aadtein hai tumhaari

Ye to jaane khuda bhi
Tu hi ik bas na maane
Tum ho har ik dua mein
Har guzaarish mein tum

Tumko barish pasand hai
Mujhko barish mein tum
Tumko barish pasand hai
Mujhko barish mein tum

Ho har din milne hamse
Savan ka baadal bankar aana
Hum hai diwaane tere
Tu bhi pagal bankar aana

Ho tumhein bheegna acha lagta hai
Mujhe bheegti hui tum
To phir baarish ke har mosam mein
Mere sath hi rehna tum

Ke dekh mohobbat meri
Khuda bhi wo hairan hai
Ho gayi jo aaj muqammal
Thi khwaahish mein tum

Tumko barish pasand hai
Mujhko barish mein tum
Tumko barish pasand hai
Mujhko barish mein tum

Leave a Comment

Your email address will not be published.